चमगादड़ क्यों उल्टे लटके रहते है हमारी तो थोड़ी देर में हो जाती है हालत खराब

चमगादड़ क्यों उल्टे लटके रहते है हमारी तो थोड़ी देर में हो जाती है हालत खराब

चमगादड़ क्यों उल्टे लटके रहते है हमारी तो थोड़ी देर में हो जाती है हालत खराब ये है खास वजह!

आपने कभी सोचा है कि आखिर ये चमगादड़ उल्टे ही क्यों सोते रहते हैं. कई घंटों तक उल्टे लटकने से उन्हें दिक्कत नहीं होती है क्या, जिस तरह इंसान के शरीर में होने लगती है.

चमगादड़ क्यों उल्टे लटके रहते है हमारी तो थोड़ी देर में हो जाती है हालत खराब

जब भी चमगादड़ की बात होती है तो दिमाग में आता है एक छोटा सा जीव, मगर उसके बड़े-बड़े पंख और उलटा लटका हुआ. जब भी आपने चमगादड़ देखा होगा तो या तो वो उड़ रहा होगा या फिर उल्टा लटका हुआ होगा. आप कई सालों से चमगादड़ देख रहे हैं, आपके मन में भी सवाल आया होगा कि आखिर ये उलटे क्यों लटकते हैं. ये सोते भी उल्टे ही हैं, लेकिन ऐसा क्यों होता है. क्या इन्हें उल्टा लटकने में दिक्कत नहीं होती, क्योंकि अगर हम कुछ देर भी उल्टा सो जाए तो दिक्कत हो जाती है.

हाय दोस्तों आज हम आप सबके लिए लेकर आए हैं हंड्रेड बिलियन मनी अर्न करने का मौका

Click Here

भारत की नंबर वन नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी 2021

अगर इस सवाल का जवाब जानने की कोशिश करते हैं तो पता चलता है कि इसके कई कारण है. कई कारण हैं, जो बताते हैं कि चमगादड़ अन्य जानवरों की तरह सीधा बैठना क्यों पसंद नहीं करते हैं. ऐसे में आज हम बताते हैं कि आखिर ऐसा क्या है कि चमगादड़ को उल्टा सोने में ही मजा आता है… जानते हैं चमगादड़ से जुड़ी खास बातें, जो आपको शायद ही पता होंगी

चमगादड़ की मांसपेशियां करती हैं उल्टा काम
दरअसल, चमगादड़ी की मांसपेशियां उल्टा काम करती है. जैसे चमगादड़ के पीठ और पंजे मांशपेशियों के विपरीत काम करते हैं. उनके घुटने पीछे की तरह होते हैं. इसके साथ ही जब वे आराम करते हैं उनकी खास तरह की मांसपेशियां पैर की उंगलियों और पंजों को जकड़ लेती है, इस वजह से जब भी लटकते हैं तो उन्हें कोई एनर्जी नहीं लगानी पड़ती है और वो उल्टा लटकते वक्त भी आराम में ही रहते हैं. बस गुरुत्वाकर्षण बल की वजह से वो लटकते रहते हैं और उन्हें कुछ भी दिक्कत नहीं होते हैं.

उल्टा लटकनें में नहीं होती कोई दिक्कत?
दरअसल, जब एक इंसान उल्टा लटकता है तो उसका खून सिर में रुक जाता है, इस वजह से कुछ देर उल्टा होने में हर किसी को दिक्कत होने लगती है. लेकिन, चमगादड़ के साथ ऐसा है कि उसका आकार काफी छोटा होता है और खून की मात्रा भी कम होने की वजह से उनकी दिल उल्टा होने पर भी ब्लड सर्कुलेशन को मेनटेन करने में मदद करता है. अमेरिका रेड क्रोस के अनुसार, अगर इंसान के शरीर की बात करें तो इंसान में 2 गैलन यानी करीब 7.5 लीटर खून होता है.

नेशनल ज्योग्राफिक की एक रिपोर्ट के अनुसार, चमगादड़ काफी हल्के होते हैं तो उससे गुरुत्वाकर्षण और ब्लड फ्लो की उन्हें ज्यादा दिक्कत नहीं होती है. इस वजह से चमगादड़ खुद को उल्टा रख पाते हैं और उनके खास तरीके से सोने की वजह से वो अच्छे से उड़ भी पाते हैं. यहां तक कि अगर चमगादड़ की उल्टे लटके हुए मृत्यु हो जाए तो वो मरने के बाद भी उल्टा ही रहता है.

उड़ने में मिलती है मदद
उल्टे लटके रहने से चमगादड़ बड़ी आसानी से उड़ान भर सकते हैं. दरअसल, उनके पंख भरपूर उठान नहीं देते और उनके पिछले पैर इतने छोटे और अविकसित होते हैं कि वो दौड़ कर गति नहीं पकड़ पाते, इस वजह से वो अन्य पक्षियों की तरह जमीन से उड़ान नहीं भर पाते. उल्टे सोने की वजह से वो आराम से उड़ान भर लेते हैं.

Also Read

आधार कार्ड आपके पैन कार्ड से लिंक है या नहीं ऐसे लगाएं पता

Also Read

Also Read

चोरी या खो गया है PAN कार्ड? घबराएं नहीं, मिनटों में डाउनलोड हो जाएगा E-PAN

Anmolk9155

Hi friends मेरे website पर आपका स्वागत है, मेरे वेबसाइट पर motivational quiets, earning tips, and अन्य सभी रोचक ब्लॉग पोस्ट डाले जाते हैं। इससे ज्यादा category wise देखने के लिए आप पोस्ट के ऊपर जाकर मीनू पर क्लिक करके देख सकते हैं ।

One thought on “चमगादड़ क्यों उल्टे लटके रहते है हमारी तो थोड़ी देर में हो जाती है हालत खराब

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *